Principal’s Message


Principal

वर्तमान समय में शिक्षा में आमूलचुल परिवर्तन हो रहे हैं | आधुनिक तकनीक व शिक्षा के साथ कौशल विकास मूलभूत आवश्यकता हो गयी है।

आज ज्ञान, दक्षता के साथ ही साथ समय के साथ तकनीकों में आ रहे परिवर्तन , सम्बंधित जानकारी होना भी सफलता के लिए अति आवश्यक है।

इन सभी तत्वों का समावेश कर सी. एस. आर. महाविद्यालय छात्र – छात्राओं के उज्जवल भविष्य के प्रति कृत संकल्पित है।

पिछले चार सत्रों में महाविद्यालय ने काफी प्रगति की है। महाविद्यालय में बी. ए. , बी. एस. सी. , बी. काम (कम्प्यूटर ), बी. सी. ए. , पी. जी. डी. सी. ए. एवं एम. ए. भूगोल पाठ्यक्रम हो रहे हैं। 8 एक्कड़ में फैले महाविद्यालय परिसर में शिक्षा के साथ , कौशल विकास एवं व्यक्तित्व विकास हेतु समय – समय पर सेमिनार मोटिवेशनल सेशन आयोजित किया जाता है। छात्र – छात्राओं को किताबी ज्ञान के साथ व्यवहारिक एवं समाज से जोड़ने हेतु विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। इसी तारतम्य में अज्ञात शवों के दाह संस्कार हेतु संस्था ने भागीदारी की है। निर्धन छात्र – छात्राओं हेतु संस्था उनके फ़ीस का स्वयं वहन कर रहा है। पर्यावरण जागरूकता एवं बच्चों में छिपी प्रतिभा सामने लाने हेतु की संस्था द्वारा नवाचार कार्यक्रम किये जाते रहे हैं। महाविद्यालय ने अपने स्टॉफ को भी तकनीक ज्ञान के साथ ही समाज से जोड़ने उनके प्रति जिम्मेदारी , अधिकार , कर्तव्यों का भी बोध करने का प्रयास करता रहा है ताकि वेतनभोगी शिक्षक से गुरु की तरफ उन्मुख हो सके।

महाविद्दालय एक आध्यात्मिक , वैज्ञानिक समाज राष्ट के निर्माण में योगदान देने की और अग्रसर है।

इस भागीरथी प्रयास में सहयोग , मार्गदर्शन एवं स्नेह की अपेक्षा के साथ….

Dr. D.N. Sharma
Principal
C.S.R. College